क्या आप जानते हैं, भारतीय रेस्तरां में हेल्थी खाने के तरीके ?

खान-पान फीचर्ड

जानिये कैसे खाये हेल्थी रेस्तरां में भी !

भारतीय रेस्तरां में हैल्थी खाना ज़रा मुश्किल होता है, सही कहा ना मैंने ? पनीर, चीज़, मसाले, और बटर के बिना तो खाना अधूरा सा लगता है। इन सभी के ऊपर रेस्तरां के मेनू होते हैं जो आपकी भूख और बढ़ा देते है। तो करें क्या ?

यदि आप अपनी हेल्थ पर ध्यान देते है और फैट से भरपूर भोजन विकल्पों से बचना चाहते हैं, तो आप कीजिये अॉर्डर स्मार्टली। हम बताने जा रहे है आपको कुछ खाने के तरीके जिनसे आप खाने का लुत्फ़ भी उठा सकते है और स्वस्थ भी रह सकते है।

बिना फैट बढ़ाये भारतीय रेस्तरां में स्वस्थ खाने के कुछ तरीके दिए गए हैं यहाँ, पढ़िए ज़रूर:

1 – ऐपेटाइज़र को करिये ना

via

फैट और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर ऐपेटाइज़र गहरे तले हुए होते हैं। इसके अलावा, ऐपेटाइज़र आप को मेन कोर्स से पहले ही फुल कर देते है। यदि आप बेहतर विकल्प के लिए अपनी भूख को बचाना चाहते हैं और अतिरिक्त कार्बोहाइड्रेट नहीं खाना चाहते हैं, तो ऐपेटाइज़र से दूर रहें।

2 – व्यंजन वह चुनें जिसमे हल्दी का प्रयोग किया जाता है

via

हल्दी पोषक तत्वों पर उच्च होता है और भोजन की खपत को संतुलित करने में मदद करता है। हल्दी के कई अन्य चिकित्सा लाभ हैं जैसे कैंसर से रोकथाम, पेट में सूजन नहीं आने देना और शरीर में विरोधी ऑक्सीडेंट की आपूर्ति।

3 – तंदूरी व्यंजन चुनिए

via

तंदूरी चीजें तंदूर में साफ-सुथरे तरीके से तैयार की जाती हैं, जहां कोई तलना नहीं होता, सिवाय मक्खन के कोट के अलावा जो व्यंजन को सील करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। इसलिए, तंदूरी वस्तुओं के लिए विकल्प चुनिए क्योंकि वे कम-कैलोरी और कम वसा वाले होते हैं।

4 – अपनी रोटी बुद्धिमानी से चुनें

via

भारतीय नान विश्व भर में सभी भारतीय व्यंजनों का प्रचलित हिस्सा है। रेस्तरां में जाए और नान न खाये तो खाना अधूरा सा लगता है, परन्तु नान में कैलोरी होती है क्योंकि ये आटे के बने होते हैं। इसलिए हम आपको नान पर रोटी का चयन करने के लिए सलाह देते हैं।

5 – दाल और चना चुनें

via

भारतीय व्यंजनों में कई फली (लेगूम) आधारित व्यंजन हैं जो तेल और मक्खन में कम होते हैं जैसे दाल या छोले, जो चना से बने होते हैं। इन खाद्य विकल्पों में फाइबर और प्रोटीन भरपूर होते हैं, यह लंबे समय तक आप को फुल रखने में आपकी मदद करते है।

6 – उच्च वसा वाले व्यंजन न खाएं

via

यदि कोई व्यंजन आपको घी, पनीर या मलाई से बना हुआ वादा करता है, तो सुनिश्चित करें कि आपको इन सब से दूर रहना होगा। पनीर जो स्पष्ट रूप से वसा में उच्च है और मालाई एक डेयरी उत्पाद भी है, इसलिए ये आपके भोजन के लिए स्वस्थ विकल्प नहीं हैं।

7 – दही ज़रूर अॉर्डर करें

via

दही, जैसा कि आप जानते हैं कैलोरी में कम है और स्वाद-वर्धक है यदि आपके लिए एक डिश बहुत मसालेदार है, तो रायता अॉर्डर करें, जो मसाले को बेअसर कर देगा। यदि रायता नहीं है, तो साधारण दही के लिए पूछिए।

8 – चावल के लिए कहें नहीं

via

बासमती चावल का एक कप 200 से अधिक कैलोरी का होता है। यह आपके शरीर में अवांछित कैलोरी बढ़ता है। इसलिए, चावल ना खाये तो ही बेहतर है।

तो आप जान गए होंगे कि कैसे आपको खाना है हेल्थी रेस्तरां में भी।

Featured image courtesy:

Tagged

Review Overview

Summary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *