ना होने दें अपने पार्टनर को नाराज, इन बातो से करें उनका गुस्सा शांत

फीचर्ड रिलेशनशिप

हम किसी भी रिश्ते में क्यों ना रहे अगर वह हमसे रूठ जाता है तो काफी बुरा लगता है। खासकर कोई और बहुत ही करीबी रूठ जाता है तो और भी बुरा लगता है। रिश्ता एक रोलर कोस्टर राइड की तरह होता है, इसमें उतार-चढ़ाव और नोंकझोंक लगा रहता है लेकिन अगर यह ज़्यादा बढ़ जाए तो रिश्ता टूटने में वक़्त नहीं लगता। कभी-कभी नोंकझोंक इतनी बढ़ जाती है की पार्टनर्स के गुस्से का कारण बन जाता है लेकिन यही गुस्सा बहुत बार बने-बनाए रिश्ते को ख़त्म करने के लिए काफ़ी होता है। कुछ लोग बहुत शॉर्ट टेम्पर्ड (जल्दी गुस्साने वाले) होते हैं इसलिए अपने पार्टनर के गुस्से को संभालना बहुत ज़रूरी होता है ।

बस इसी वजह से आज हम आपको बताएँगे की किस तरह आप अपने पार्टनर का गुस्सा शांत कर सकते हैं | 

1. बात करें :

via

जब भी लड़ाई हो कोशिश करें की आप कम ही बोलें। किसी एक को शांत होना पड़ता है | अब अगर वह नहीं हो रहे तो आप ही हो जाइये | अब क्या है ज्यादा बहसबाजी करने से बस बातें बढ़ती है | कभी-कभी बात ना करना ईगो की निशानी होती है और इससे ग़लतफहमी पैदा होती है, जिस कारण रिश्ते बनते नहीं बिगड़ते हैं। अपने पार्टनर से शांति से बात करें ना की उनपर चिलायें क्यूंकि हमेशा याद रखें बात करने से ही बात बनती है ।

2. बहसबाजी ना करें :

via

कभी भी बहसबाज़ी नहीं करनी चाहिए इससे बात ज़्यादा बिगड़ जाती है । अगर एक इंसान गुस्सा रहा है तो दूसरे को शांत होकर सामने वाले को भी शांत करना चाहिए ना की उसपर और ज़्यादा चिल्लाना या बहस करना चाहिए अगर आप भी ऐसी गलती करते हैं तो बिल्कुल ना करें ।

3. आप शांत हो जाए :

via

कभी भी अगर आपके पार्टनर गुस्सा करते हैं तो ऐसा नहीं की आप भी डबल गुस्सा करें । हमेशा याद रखें झगड़ा कोई हार-जीत का खेल नहीं की आप आगे होने की चाह रखें । ज़रूरत पड़े तो चुप हो जाएं, झगड़े से खुद को पीछे कर लें इससे लड़ाई थोड़ी शांत होगी और आपदोनों शांत दिमाग से सोच सकेंगे और बाद में जिसकी भी गलती होगी उन्हें उसका एहसास भी ज़रूर होगा ।

4. एक दूसरे की भावनाओं को समझे :

via

हर वक़्त अपनी बात या अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करने के बजाय अपने पार्टनर की बात सुनें । उनसे बात करें अगर उन्हें कोई परेशानी या चिंता है तो इसके बारे में पूछें । उन्हें विश्वास दिलाएं की उनके हर मुश्किल वक़्त में आप उनके साथ हैं, उन्हें हिम्मत दें, उनकी भावनाओं को समझें, उनकी कमज़ोरी नहीं हिम्मत बनें ।

5. सॉरी ज़रूर कहें :

via

अगर आपसे कोई गलती हो गयी हो सॉरी बोलने से ना कतराए | याद रखें माफ़ी मांगने से कोई छोटा नहीं होता। अपने रिश्ते में ईगो आने ना दें अगर एक छोटे से सॉरी से बात बन सकती है, रिश्ते सुलझ सकते हैं तो इसमें हर्ज़ ही क्या है । इससे ना केवल आपको अच्छा लगेगा बल्कि आपदोनों रिलैक्स भी महसूस करेंगे ।

यह भी ज़रूर पढ़े :

अगर आपके साथी भी इस राशि के तो होगा प्यार होगा और गहरा

Featured Image Courtesy

Tagged

Review Overview

Summary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *