अगर होली की तीन दिन की छुट्टी में घर जाने का मन नहीं है तो इन जगह पर घूम आओ

ट्रैवेल फीचर्ड

भारत की धरती त्यौहारों से रंगी धरती है। हमारा देश एक उत्सव प्रधान देश है, जिसका मुख्य कारण यहाँ उपस्थित विविध संस्कृतियां है। और यही वजह है कि यहां साल भर कई त्योहार बड़े धूम-धाम से मनाए जाते हैं। इन्हीं त्योहारों में से एक है रंगों का त्यौहार होली। होली को हिन्दुओं के प्रमुख त्यौहार के रूप में जाना जाता है। यह एक मात्र ऐसा त्यौहार है जिसमें लोग अपनी आपसी रंजिश भूल कर एक-दूसरे को बड़े प्यार से गले लगाते हैं। वहीं दूसरी ओर इस त्यौहार पर हर घर से स्वादिष्ट पकवानों की महक हवाओं का पेट भर जाती है। हर घर में गुंजिया और रंगों से रंगे चेहरे ऐसे ही मनती है सबकी होली।
मगर आजकल देखा गया है व्यक्ति बोर बड़ी जल्दी हो जाता है, इसलिए आप कुछ नया कर पाओ इसी वजह से हमने भी कुछ नया करने की कोशिश की है। दरअसल हर साल उसी तरह से त्यौहार मानाने के दर्द को मैं समझ सकता हूँ, मगर अब निराश होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि इस होली पर आपको लम्बी छुट्टी मिलने जा रही है, यानी पूरे 3 दिन की। तो अगर इस बार होली पर घर जाने का मन नही है तो हमारी बताई इन जगहों पर घूम आइये।

१. मथुरा 

via

मथुरा नगरी कृष्ण की नगरी है अब कृष्ण की नगरी में होली की धूम कैसी होगी यह बताने की आवश्यकता नहीं है। सबसे बड़ी ख़ासियत तो यह है कि यहां होली एक और दो दिन नहीं, बल्कि हफ़्ते भर तक चलती है। और हर दिन होली खेलने का तरीका भी अलग होता है।

2. इगतपुरी

via

अगर आपको यह हली सुकून भरी मनानी है तो आप बिना देर किये इगतपुरी के लिए प्रस्थान कर सकते हैं। नासिक ज़िले में बसा हुआ यह प्रकृति का लाडला बेटा महाराष्ट्र का सबसे खू़बसूरत और पसंदीदा हिल स्टेशन है।

3. त्रिचूर फ़ॉरेस्ट

via

अगर आप मरने से पहले जन्नत देखना चाहते हो तो केरल के त्रिचूर फ़ॉरेस्ट में चले जाओ। ऐडवेंचर के दीवानों को भी यही जा कर सुकून की प्राप्ति होगी।

4. मुनसियारी

via

पिथौरागढ़ से लगभग 125-130 किलोमीटर दूर स्थित है मुनसियारी, यह जगह ट्रैकिंग के लिए काफी मशहूर है। यहाँ ट्रैकिंग के लिए सबसे पसंदीद जगह हिमालय रेंज है।

5. तीर्थन घाटी

via

अगर आप मछलियों के शौकीन है तो आप कहीं मत जाइए सीधे तीर्थन घाटी पर पहुँच जाइए। यह क्षेत्र शिमला से महज़ 75 किलोमीटर दूर है, और यह अपने लोड़ी दर्रा और औट के लिए काफी मशहूर है।

6. कोरिया

via

मध्यप्रदेश के ह्रदय के नजदीक एक और खुबसूरत प्रदेश है जो अपनी अनोखी सभ्यता के लिए जाना जाता है। न सिर्फ अनोखी सभ्यता बल्कि यहाँ कई खुबसुरत स्थल भी है उन्हीं में से एक है कोरिया, छत्तीसगढ़ का कोरिया ज़िला झरनों के लिए जाना जाता है। यहाँ के प्रसिद्ध झरने के नाम अकुरी है। और जैसा की आप जानते ही होंगे ख़ूबसूरत पहाड़ियों और झरनों के बीच त्योहार मनाने का मज़ा कई गुना ज़्यादा हो जाता है।

7. नुब्रा वैली, लद्दाख, जम्मू कश्मीर

via

लेह के पास स्थित नुब्रा घाटी श्योक और नुब्रा नदियों के मिलन की निशानी है। ये जगह मुख्य रूप से ट्रैकिंग और कैम्पिंग के लिए जानी जाती है। इसे ‘फूलों की घाटी’ भी कहते हैं और इसकी सुंदरता आपके दिल को मोह लेगी।

THUMBNAIL RESOURCE 

Review Overview

Summary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *