आप बिलकुल नहीं जानते होंगे कि ओएसए क्‍या है, इसी से उड़ती है रातो की नींद

फीचर्ड हेल्थ

क्या आपको भी रात में सोने में परेशानी होती है | आपको भी नींद नहीं आती ?? या फिर एक बार नींद खुल जाने के बाद दोबारा सोना मुश्किल हो जाता हैं? और नींद में ज्‍यादा नींद आती है और थकान महसूस होती हैं तो सावधान हो जाएं |

via

कहते हैं मेहनत करने के वालों को अच्‍छी नींद आती है लेकिन इतना काम करने के बावजूद आजकल नींद ना आने की समस्‍या देखने को मिलती है। ऐसा बदलती लाइफस्‍टाइल, भागदौड़ और तनाव के कारण बहुत ज्‍यादा देखने को मिलता है | फिर भी हम इस समस्‍या को अनदेखा कर देती हैं | कई बार नींद ना आने की समस्या इतनी गंभीर हो जाती है कि यह हमारी मेंटल हेल्‍थ पर असर होने लगता है | इसलिए लोग नींद की गोलियों का सहारा लेने लगते हैं |

via

एक शोध में यह बात सामने आई है | भारत में है और ऐसे मामलों में लगभग 20.3 प्रतिशत रोगी डॉक्टरों से नींद की गोलियां लिखने को कहते हैं | शोध में पता चला है कि कई रोगियों को नींद न आने की शिकायत रहती है, जिसके लिए उनका अत्यधिक व्यस्त कार्यक्रम, रात के समय काम करना और हाई मेंटल स्‍ट्रेस एक कारण है | अब्स्ट्रक्टिव स्लीप अपनेआ (ओएसए) सबसे नॉर्मल स्लीप डिसॉर्डर्स में से एक है |

via

यह पुरुषों में अधिक आम है और बुढ़ापे के साथ इसकी संभावना बढ़ जाती है। यह आनुवांशिक भी हो सकता है। कुछ जातियों के लोग दूसरों की तुलना में इससे अधिक ग्रस्त पाए गए हैं। पुरुषों में 17 इंच से अधिक और महिलाओं में 15 इंच से अधिक चौड़ी गर्दन होने पर यह समस्या हो सकती है |

via
  • Obstructive के संकेतों और लक्षणों में

  • दिन में नींद आना

  • जोर से खरार्टे लेना

  • नींद के दौरान सांस लेने में कठिनाई

  • अचानक नींद खुल जाना

  • गले में खराश

  • सुबह के समय सिरदर्द

  • फोकस करने में कठिनाई

  • मूड में परिवर्तन

  • हाई ब्‍लड प्रेशर

  • रात को पसीना आना

  • सेक्‍स इच्‍छा में कमी अदि प्रमुख हैं।

    via

    अगर आपका पार्टनर आपमें ये चीजें महसूस करता है तो डॉक्‍टर से परामर्श करें |
    जोर से खरोर्ट लेना जिससे आपकी और दूसरों की नींद खराब होना।
    घुटन महसूस होना |
    नींद के दौरान सांस लेने में कठिनाई होना |
    दिनभर सुस्‍ती रहना, जिससे कारण आपको काम, टीवी देखते यहां तक‍ कि वाहन चलाते समय भी नींद का आना |

via

डॉक्‍टर अग्रवाल ने बताया, अगर आपको दिन में अधिक नींद आती है और थकान रहती है तो विशिष्ट लक्षणों पर नजर रखना और विशेषज्ञों से परामर्श लेना महत्वपूर्ण है | इसके लिए एक स्लीप लैब में रातभर नींद का टेस्‍ट किया जाता है | नींद के दौरान मस्तिष्क तरंगों, आंखों और पैरों की गति, ऑक्सीजन लेवल, एयर फ्लो और दिल की रिदम को रिकॉर्ड करके, इस समस्‍या का पता लगाया जाता है। बढ़े हुए मामलों में सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है | लाइफस्‍टाइल में कुछ परिवर्तन करके आप इस समस्‍या से बचने या इसे खराब होने से रोकने में हेल्‍प पा सकते हैं |

Tagged

Review Overview

Summary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *